इस्लामिक वेलफेयर आर्गेनाईजेशन द्वारा वाल ऑफ काइन्डनॅस् मे वितरण किया गया राशन। गरीब लोगों की मदद के लिए इंडियन आर्मी द्वारा चलाया जा रहा है कार्यक्रम वाल ऑफ काइन्डनॅस्

राजौरी:-मानवता किसी का धर्म और जात नही देखती।देखती है तो सिर्फ इंसान की मज़बूरियां।इस मुश्किल काल मे गरीब लोगो की मदद के लिए कई संस्थाए सामने आई है।जिसके चलते कई गरीब परिवारों को इस मुश्किल समय मे दो वक्त की रोटी नसीब हो रही है।इसी मोहीम को जम्मू के राजौरी जिले मे तैनात इंडियन आर्मी की 25 वी इन्फेंट्री डिवीज़न द्वारा एक कार्यक्रम के रूप मे चलाया जा रहा है।जिसे नाम दिया गया है "वाल ऑफ काइन्डनॅस्"।इस कार्यक्रम के अंतर्गत समाज के हर धर्म हर जाती से जुड़े लोग अपनी इच्छा और क्षमता से लोगों की जरूरत का सामान दान दे कर लोगो की मदद कर सकते है। गत शनिवार को राजौरी की इस्लामिक वेलफेयर आर्गेनाईजेशन द्वारा इंडियन आर्मी की 25 वी इन्फेंट्री डिवीज़न द्वारा चलाए जा रहे वाल ऑफ काइन्डनॅस् कार्यक्रम मे एएलजी गेट पर सूखा राशन दान देकर गरीब एवम जरूरतमंद लोगों की मदद की गई।इस मौके पर इस्लामिक वेलफेयर आर्गेनाईजेशन के प्रधान शफ़क़त मीर एवम अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।शफ़क़त मीर ने इस मौके पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज के हर धर्म एवम हर वर्ग को गरीब लोगों की सहायता के लिए आगे आना चाहिए और इंडियन आर्मी द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम मे बढ़ चढ़ कर दान देना चाहिए।ताकि सही समय पर और सही लोगो तक जरूरत का सामान पहुँचाया जा सके।उन्होंने इंडियन आर्मी की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि वाल ऑफ काइन्डनॅस् जैसे कार्यक्रम समाज मे आपसी भाईचारे और सौहार्द को प्रोत्साहित करते है और हम इस कार्यक्रम को जारी रखने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

रिपोर्ट एकता चौहान

सम्बंधित खबर