कैबिनेट मंत्री पंजाब के नजदीकी और पूर्व काऊंसलर ने हाथ छोड़ कर झाड़ू पकड़ा

सुनाम ऊधम सिंह वाला, (शैली बांसल / राजेश कुमार): कैबिनेट मंत्री पंजाब विजेइन्दर सिंगला के नजदीकियों में से जाने जाते विधान सभा क्षेत्र सुनाम ऊधम सिंह वाला से मनप्रीत बांसल आज कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह कर आप पार्टी के क्षेत्र विधायक अमन अरोड़ा के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए हैं।
    बता दें कि मनप्रीत बांसल जिन्होंने समाज सेवा के साथ-साथ अपना राजनैतिक सफर लगभग 25 वर्ष पहले कांग्रेस पार्टी से शुरू किया और 2015 में हुई नगर कौंसिल की मतदान में वार्ड नं. 14 से कांग्रेस पार्टी के चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ा था और अमन अरोड़ा (उस समय कांग्रेस पार्टी में थे) समेत अन्य कांग्रेसियों ने भी मनप्रीत बांसल की चुनाव मुहिम को शिखरों पर चलाया था और मनप्रीत बांसल यह चुनाव जीत गए थे और 2021 में फिर हुई नगर कौंसिल की मतदान दौरान मनप्रीत बांसल ने वार्ड नं. 4 से कांग्रेसी उम्मीदवार के तौर पर यह चुनाव लड़ा जिसमें वह हार गए थे और इस समय भी कैबिनेट मंत्री विजेइन्दर सिंगला ने मनप्रीत बांसल की चुनाव मुहिम को तेज करने पहुंचे थे। मनप्रीत बांसल कांग्रेस के प्रदेश सचिव के तौर पर भी रह चुके हैं और मौजूदा समय में वह अग्रवाल सभा सुनाम ऊधम सिंह वाला के प्रधान भी हैं और पिछले समय से लगातार समाज सेवा के क्षेत्र में विचरते आ रहे हैं।
      मनप्रीत बांसल के निवास स्थान पर हुए एक प्रोग्राम दौरान वह आप पार्टी में शामिल हो गए और आप पार्टी में होने के बाद अब वह खुद 2022 की विधान सभा मतदान के लिए क्षेत्र से आप पार्टी के उम्मीदवार अमन अरोड़ा की चुनाव मुहिम का हिस्सा बनते नजर आऐंगे। इस समय मनप्रीत बांसल ने आप पार्टी में शामिल होते ही कांग्रेस विरुद्ध जमकर भड़ास निकाली और कहा कि उन्होंने लगभग 25 वर्षों तक कांग्रेस पार्टी का वफादार सिपाही बनकर ईमानदारी और लगन के साथ सेवा की लेकिन कांग्रेस में अब कोई कदर न होती देख उन्होंने पार्टी को अलविदा कहने में अपनी भलाई समझी तथा आप पार्टी की नीतियों व कार्यशैली से प्रभावित होकर उन्होंने आप पार्टी में शामिल होने का मन बनाया।
    इस मौके विधायक अमन अरोड़ा ने आप पार्टी में शामिल हुए मनप्रीत बांसल का स्वागत करते कहा कि मनप्रीत बांसल की तरफ से बड़े समय बाद कांग्रेस को अलविदा कहकर आप पार्टी में शामिल होना बड़ा फैसला है जोकि प्रशंसनीय है और उन्होंने भी हमेशा साफ-सुथरी राजनीति करने को प्राथमिकता दी है।  

सम्बंधित खबर