प्राचीन छप्पड़ बना मवेशियों की जान का दुश्मन

 प्राचीन छप्पड़ बना मवेशियों की जान का दुश्मन 

नगर पंचायत अध्यक्ष एवं ई ओ ने दिया बेजुबानो के बचाव का भरोसा

 लोहिया खास, सबप्रीत सिंह

मुगल काल दौरान लोगों की अध्यात्म संतुष्टि का कारण रहा मुगलिया सरोवर जो आज छप्पड़ का रूप धारण कर बेजुबान जानवरों के लिए मौत का कुआं बना हुआ है। दर्जन जानवर एवं आवारा पशु इसमें गिरकर मौत के काल के ग्रास में समा चुके हैं। याद रहे कि पिछले मानसून शैशन से पहले नगर पंचायत लोहिया खास की ओर से इस छप्पड़ रूपी तलाव को डूंगा किया गया था, क्योंकि इसमे बरसाती पानी को अपने भीतर समा लेने की समर्था नहीं थी। उफान भरे शहर के गंदे पानी ने अपना डेरा पडा क्लोनी के घरों में जमा लिया था।किनारे पड़ी कई एकड़ वाही योग जमीन अपने कब्जे में ले ली थी।कथित रूप में लोगों का कहना है कि सफाई समय इस छप्पड़ से निकल रही उम्दा किस्म की रेत के लालच कारन इसकी ढंगाई सीमा का कोई ख्याल नहीं रखा गया,वही खुदाई के बाद इसके किनारे के ऊपर सुरक्षा हेतु कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया। यही कारण है कि इसमें गिरकर आवारा एवं पालतू मवेशी मौत के मुंह में जाने लगते हैं तो लाखों कोशिश के बावजूद भी उन्हें बाहर नहीं निकाला जा सकता क्योंकि बाहर निकालते समय इंसानी जान चले जाने का खतरा बना रहता है। इन्हीं दिनों छप्पड़ के नजदीक पतंग उड़ा रे बच्चे भी किसी दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं। वैसे तो आवारा पशुओं की सुरक्षा के लिए फुल रोड पर स्थित नगर  पंचायत लोहिया की ओर से कैटल पाउंड की स्थापना की गई थी आज दस साल बाद भी वह कहां गुम हो गया किसी को कुछ नहीं पता, जबकि वह स्थान अब पुलिस का कबाड़ घर एवं नगर पंचायत का कूड़ा डंपिंग स्थान बना हुआ है। उक्त मुगलिया तलाब की अगर ऐतिहासिक महत्ता की बात की जाए तो आज भी इस छप्पड़ के किनारे पर खड़ी मसीत की दीवार अपनी ऐतिहासिक होने की गवाही भर रही है। लेकिन अब यह बस एक गंदा छप्पड़ एवं एक छोटी सी खंडर दीवार तक ही सीमित होकर रह गया है। जो आने वाले समय में पता नहीं कितने और मवेशियों की जान का खौफ बना रहेगा जा फिर किसी इंसानी जिंदगी को भी निगल जाएगा। जब इस संबंध में नगर पंचायत के ई ओ रणदीप सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद किनारों पर कटीली तार लगा दी जाएगी जबकि नगर पंचायत लोहिया के अध्यक्ष जगजीत सिंह नोनी ने कहा कि छप्पड़ के चारों तरफ हरे भरे पेड़ पौधे लगाकर इसको सुंदर बनाया जाएगा।

सम्बंधित खबर