मध्य प्रदेश / नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी ने खुद को दिया मृत्युदंड, पुलिस गिरफ्त में ही रेप के दोषी ने की खुदकुशी

कहावत है कि बुरे काम का नतीजा बुरा ही होता है। देर भले ही हो जाय लेकिन हर व्यक्ति को अपने कर्मों का हिसाब देना ही होता है। मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम में रेप का दोषी एक शख्स अपने दुष्कर्मों का हिसाब खुद ही चुकाने पर मजबूर हो गया। बताया जा रहा अदालत द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद रेप के दोषी ने जहर खाकर जान दे दी। रेप के दोषी ने की खुदकुशी नर्मदापुरम की पुलिस ने बताया कि नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी राजा कहार को स्पेशल कोर्ट ने 20 साल कैद की सजा सुनाई थी। कोर्ट के फैसले के बाद राजा को जब पुलिस जेल लेकर जा रही थी तभी उसने कोई जहरीला पदार्थ खा लिया, जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। पुलिस उसे तुरंत अस्पताल लेकर पहुंची जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही राजा कहार की मौत की वजह साफ हो सकेगी। 2020 में रेप की वारदात पुलिस के मुताबिक राजा कहार(24) पुत्र रमेश नर्मदापुरम के रायपुर में का निवासी था। 4 जुलाई 2020 को उसने मोहल्ले की एक 17 साल की लड़की को बहलाया-फुसलाया और भोपाल लेकर भाग गया। भोपाल में नाबालिग लड़की से राजा कहार ने कई बार रेप किया। लड़की के घरवालों की शिकायत पर पुलिस राजा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कोर्ट ने कुछ महीनों बाद उसे जमानत दे दी थी। कोर्ट ने सुनाई सजा तो खाया जहर! पोक्सो एक्ट के तहत दर्ज रेप के इस मामले की सुनवाई कोर्ट में चल रही थी। शुक्रवार 24 जून को इस मामले में कोर्ट ने आखिरी सुनवाई के बाद फैसला सुनाना था। कोर्ट ने राजा कहार को दोषी मानते हुए 20 साल बामुशक्कत की सजा सुना दी। बताया जा रहा है कि फैसला सुनने के बाद जेल जाते समय राजा ने जहर खा लिया जिससे उसकी मौत हो गई। कैदी की मौत से हड़कंप मच गया। दोषी राजा की मौत के बाद सजा सुनाने वाली जज अस्पताल पहुंचीं और पुलिसकर्मियों के बयान दर्ज किया। उधर राजा के परिवार को भरोसा नहीं हो रहा है कि उसकी मौत हो चुकी है। परिजनों का कहना है कि वो राजा को बिल्कुल स्वस्थ अवस्था में पुलिस के पास छोड़कर आए थे। परिजनों ने साजिश की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। पुलिस पूरे मामले की तहकीकात कर रही है।

सम्बंधित खबर