मुख्यमंत्री ने राज्य के सीमावर्ती एवं कंडी क्षेत्रों के समग्र विकास के लिए व्यापक योजना का किया एलान

पंजाब में सीमा पार से घुसपैठ को रोकने के लिए राज्य सरकार पूर्ण रूप से संवेदनशील
अमृतसर।स्टेट समाचार।अखिल मेहरा 
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज राज्य के सीमावर्ती एवं कंडी क्षेत्रों के समग्र विकास के लिए व्यापक रूप-रेखा तैयार करने का ऐलान किया है।  
मुख्यमंत्री आज यहाँ भगवान वाल्मीकि धुन्ना साहिब ट्रस्ट द्वारा भगवान वाल्मीकि तीर्थ में लव-कुश और गुरू ज्ञाननाथ के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित करवाए गए समारोह में शिरकत करने आए थे।  
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए कहा कि पिछली सरकारों द्वारा लगातार इन दोनों क्षेत्रों को अनदेखा करने के कारण यह क्षेत्र विकास के पक्ष से काफ़ी पिछड़ गए हैं। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार इन दोनों क्षेत्रों के विकास पर और ज्यादा ज़ोर देगी। उन्होंने कहा कि इस मंतव्य के लिए विस्तृत योजना बनाई जाएगी, जिससे आने वाले समय में इन क्षेत्रों का रूप संवारा जा सके।  
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि राज्य सरकार पंजाब में सीमा पार से हो रही घुसपैठ को रोकने के लिए पूरी तरह से संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस इस मकसद के लिए सीमा सुरक्षा बल (बी.एस.एफ.) और अन्य एजेंसियों के साथ लगातार संपर्क में है। भगवंत मान ने सीमा पार से नशे एवं हथियारों की सप्लाई लाईन को तोडऩे के लिए राज्य सरकार की दृढ़ प्रतिबद्धता को दोहराया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आने वाले दिनों में लोगों के साथ किए गए सभी वायदे पूरे करेगी। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार हरेक वायदे को पूरा करने के लिए साधन जुटाने के लिए पहले से ही प्रयत्नशील है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार लोगों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी।  
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि राज्य सरकार शिक्षा एवं स्वास्थ्य क्षेत्रों को सबसे अधिक प्राथमिकता दे रही है और उनकी सरकार ने हाल ही में इन दोनों प्रमुख क्षेत्रों के लिए बजट भी बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि यह अतिरिक्त बजट अब सभी विधान सभा चुनाव क्षेत्रों में मोहल्ला क्लीनिक खोलने के अलावा सरकारी स्कूलों एवं अस्पतालों की कायाकल्प करने पर ख़र्च किया जाएगा।

सम्बंधित खबर